हम जहाँ भी होते हैं और जो कुछ भी करते हैं, प्रभु सब देखते हैं। — संत राजिन्दर सिंह जी महाराज