ध्यानाभ्यास के ज़रिए एक बिल्कुल नया संसार हमारे सामने खुल जाता है। — संत राजिन्दर सिंह जी महाराज